नहीं थम रहा आडिट फ्राड, सीएअपूर्व बंसल पर प्रतिबंध

0
86
Business Signing a Contract Buy - sell house.

सीएअपूर्व बंसल पर जुर्माना,एक साल तक आडिट पर रोक…. नेशनल फाइनेंशियल रिपोर्टिंग अथाॅरिटी ने दिल्ली एनसीआर की आडिट फर्म एसवीपी एसोसिएट्स (आईसीएआई मेंबर रजिस्ट्रेशन नंबर 003838 एन) के चार्टर्ड एकाउंटेंट अपूर्व बंसल पर एक लाख रुपए का जुर्माना लगाया है और उन्हें एक वर्ष तक आडिट करने से रोक दिया है।

नेशनल फाइनेंशियल रिपोर्टिंग अथाॅरिटी (एनएफआरए) ने कहा है कि अपूर्व बंसल द्वारा एसआरएस लिमिटेड के वित्तीय वर्ष 2017-18 में किए गए आडिट में कई गड़बड़ियां पाईं गईं। अपूर्व में तजुर्बे की कमी है और उनके द्वारा किए गए आडिट की गुणवत्ता स्तरीय नहीं पाई गई।

एसआरएस ग्रुप रीयल एस्टेट, ज्वेलरी,और वित्तीय सेवा सहित कई क्षेत्रों में कार्यरत है। डा. अनिल जिंदल द्वारा स्थापित पांच हजार करोड़ रुपए के एसआरएस ग्रुप पर केनरा बैंक के साथ 135 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी के मामले में सीबीआई ने 2020 में इसके दिल्ली, फरीदाबाद और बंगलुरु में स्थित 19 ठिकानों पर छापे मारे गए थे।

सीबीआई ने ग्रुप कंपनियों – एस आर एस लिमिटेड (बंद हो गई), एसआरएस रीयल इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड, एस आर एस फाइनेंस लिमिटेड और इसके संस्थापक डा. अनिल जिंदल, डाइरेक्टर राजेश सिंगला, बिशन बंसल, नानक चंद तायल, जितेंद्र कुमार और विनोद जिंदल पर कार्रवाई की थी।

प्रणतेश बाजपेयी