अयोध्या धाम में अपने महल में विराजे श्रीराम लला

0
704

अयोध्या। 500 वर्षों की तपस्या सोमवार को फलीभूत हो गई। अयोध्या धाम में, अपनी जन्मभूमि पर श्रीराम लला विराजमान हो गए। प्रत्येक हिंदु, रामभक्तों को उसके श्रीराम मिल गए। 5 अगस्त 2020 को जिस रामजन्मभूमि पर पीएम मोदी ने भव्य मंदिर का शिलान्यास किया था, 22 जनवरी 2024 को उन्होंने संतों और ऋषियों की उपस्थिति में मंत्रोच्चार के बीच प्राण प्रतिष्ठा के अनुष्ठान को पूर्ण कर देशवासियों और श्रद्धालुओं को राम मंदिर समर्पित कर दिया। छत्र लेकर मंदिर प्रांगण में पहुंचे पीएम मोदी ने पहले प्राण प्रतिष्ठा का संकल्प लिया और फिर आधे घंटे से ज्यादा समय तक गर्भ गृह में चले प्राण प्रतिष्ठा अनुष्ठान को संपन्न कराया। इसके बाद उन्होंने श्रीराम लला के विग्रह की दिव्य आरती भी उतारी। इस दौरान गर्भ गृह में उनके साथ सीएम योगी, आरएसएस के सरसंघसंचालक मोहन भागवत और उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के साथ रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास भी उपस्थित रहे। पीएम मोदी ने उनका आशीर्वाद भी लिया।

सुनहरे वस्त्रों में पीएम ने अनुष्ठान में लिया हिस्सा : प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर पीएम मोदी पारंपरिक वस्त्रों में श्रीरामलला का छत्र और लाल वस्त्र लेकर मंदिर परिसर पहुंचे। इसके बाद पीएम ने कमल के फूल से पूजा-अर्चना की और फिर गर्भ गृह में भगवान राम के बालस्वरूप के दर्शन किए। प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम अभिजीत मुहूर्त में संपन्न किया गया। वाराणसी के गणेशवर शास्त्री द्रविड़ की निगरानी, समन्वय और दिर्शा निर्देशन में अनुष्ठान की सभी प्रक्रियाओं को मुख्य आचार्य काशी के लक्ष्मीकांत दीक्षित ने संपन्न कराया। रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद सभी यजमान का सम्मान किया गया।

अतिथियों ने बजाई घंटी : आरती के समय परिसर में उपस्थित सभी अतिथियों ने घंटी बजाई। आरती के समय सेना के हेलीकॉप्टर मंदिर परिसर में मौजूद मेहमानों के साथ-साथ पूरी अयोध्या में पुष्प वर्षा करते रहे। इस दौरान परिसर में 30 कलाकारों ने अलग अलग भारतीय वाद्यों का वादन किया। उन्होंने भारतीय वाद्य के जरिए एक समय में एक साथ वादन किया। यहीं मोदी ने 11 दिन का विशेष अनुष्ठान व्रत खोला। पीएम मोदी को निर्मोही अखाड़ा के स्वामी गोविंद गिरि महाराज ने चम्मच से जल पिलाया। सीएम योगी ने पीएम मोदी और आरएसएस सरसंघचालक मोहन भागवत को दिया चांदी के राम मंदिर की प्रतिकृति भेंट की।

श्रमिकों पर पीएम ने की पुष्प वर्षा : प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के बाद पीएम मोदी ने अति विशिष्ट मेहमानों से मुलाकात की और सभी को नमन किया। यहां से पीएम मोदी कुबेर टीला पहुंचे, जहां उन्होंने शिव मंदिर में पूजा अर्चना की। यहां उन्होंने जटायु प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किए। इसके बाद पीएम मोदी ने मंदिर निर्माण में अनवरत लगे रहे श्रमिकों से मुलाकात की और उन पर पुष्प वर्षा की। इससे पूर्व भी पीएम मोदी अनेक अवसरों पर श्रमिकों, सफाई कर्मियों को इसी तरह सम्मान दे चुके हैं। इस दौरान सीएम योगी भी उनके साथ मौजूद रहे।