कार सुरक्षा आकलन के लिए बीएनसीएपी लांच, खरीदारों को होगी आसानी

0
1140

कार सुरक्षा आकलन के लिए बीएनसीएपी लांच, खरीदारों को होगी आसानी….. कार यात्रा में सुरक्षा का आकलन करना वाहन खरीदरों के लिए बहुत आसान हो जाएगा। भारत न्यूकार एसेसमेंट प्रोग्राम कार जिसे संक्षिप्त में बीएनसीएपी कहते हैं, इसकी मदद से ग्राहक कार खरीदने के पहले ही विभिन्न कारों में उपलब्ध सुरक्षा उपायों का तुलनात्मक आकलन कर सकेंगे।

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी 22 अगस्त को बीएनसीएपी को लांच करेंगे। बता दें कि देश में मार्ग दुर्घटनाओं में जान गंवाने वालों की संख्या हरसाल बढ़ती ही जा रही है। एक अरसे से न्यूकार एसेसमेंट प्रोग्राम की जरूरत महसूस की जा रही थी। साल दर साल मार्ग दुर्घटनाओं और इनमें होने वाले घायलों और जान गंवाने वालों की बढ़ती संख्या सरकार की चिंता का कारण बनी हुई है। बीएनसीएपी आटो उद्योग के वाहन सुरक्षा मानकों पर आधारित है।

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार देश में 2021 में 4.12 लाख से अधिक सड़क दुर्घटनाओं में 1.53 लाख से अधिक जनहानि हुई। त्रासदी यहां नहीं खत्म होती है। 2021 में हुई दुर्घटनाओं में 3.84 लाख से अधिक लोग घायल हुए। इनमें ऐसे भी केस होते हैं जिनमें घायल हमेशा के लिए अपने अंग गवां बैठता है दुश्वारियों भरा जीवन काटने को मजबूर हो जाता है। हालांकि सर्वे रिपोर्ट्स से यह भी खुलासा होता है कि शराब पीकर वाहन चलाना और ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करना दुर्घटनाओं के दो प्रमुख कारण होते हैं।

राज्यों में सर्वाधिक सड़क दुर्घटनाएं तमिलनाडु में होती हैं। दूसरा दुर्घटना बाहुल्य है उत्तर प्रदेश, ये दोनों राज्य शराबखोरी के लिए कुख्यात हैं। शहरों में सर्वाधिक सड़क दुर्घटनाएं देश की राजधानी दिल्ली के नाम दर्ज हैं, दूसरे नंबर पर चेन्नई। वैसे भी विश्व में सबसे अधिक सड़क दुर्घटनाओं का देश भारत है।

प्रणतेश बाजपेयी