दो आईपीओ में पूंजी लगाने का मौका

0
339

9,13 मार्च को दो आईपीओ में पूंजी लगाने का मौका…. निवेशकों के सामने पूंजी लगाने के दो मौके आ गए हैं। एक कंपनी क्षमता विस्तार के अंतर्गत दुबई के ज़ेबल अली फ्री ट्रेड ज़ोन में इंजीनियरिंग क्वार्ट्ज की प्रोसेसिंग फैक्ट्री लगा रही है। और दूसरी कंपनी फार्मा सेक्टर से है जो वर्किंग कैपिटल तथा कार्पोरेट ज़रूरत को पूरा करने के लिए आई पी ओ के जरिए पूंजी जुटाना चाहती है। एक का आईपीओ 133-140 रुपए प्रति शेयर की दर से 13 मार्च को खुलेगा। जबकि दूसरी कंपनी का आईपीओ 71-73 रुपए प्रति शेयर के मूल्य पर 9 मार्च को खुलेगा।

सेबी से लिए गए डिटेल के अनुसार माइनिंग और स्टोन प्रोसेसिंग करने वाली कंपनी ग्लोबल सर्फेसेज़ लिमिटेड अपनी पूर्ण सहायक कंपनी ग्लोबल सर्फेसेज़ एफज़ेडई के माध्यम से दुबई के ज़ेबल अली फ्री ट्रेड ज़ोन में इंजीनियरिंग क्वार्ट्ज प्रोसेसिंग फैक्ट्री लगा रही है, यह इसकी तीसरी फैक्ट्री है। वर्ष 1991 में स्थापित ग्लोबल सर्फेसेज़ की जयपुर में माइन्स, और दो प्रोसेसिंग फैक्ट्री हैं जिनमें ग्रेनाइट,ट्रैवरटाइन, लाइमस्टोन और इंजीनियरिंग क्वार्ट्ज तैयार किया जाता है। यह घरेलू बाजार के साथ ही निर्यात भी करती है।

मुख्य प्रमोटर मयंक शाह हैं। कंपनी ने 2019-20, 2020-21 और 2021-22 में क्रमशः 165 करोड़ रुपए, 179 करोड़ रुपए व 198 करोड़ रुपए की आय पर 21 करोड़, 34 करोड़ व 36 करोड़ रुपए का करबाद लाभ कमाया, 30 सितंबर 2022 को समाप्त छमाही में 19 करोड़ रुपए की आय पर कर भुगतान के बाद 14 करोड़ रुपए का लाभ दर्ज़ किया। ग्लोबल सर्फेसेज़ 10 रुपए मूल्य के 85.20 लाख शेयरों का फ्रेश इश्यू और आफर फार सेल के तहत 25.50 लाख शेयर जारी करेगी। निवेशक 133-140रुपए की दर पर न्यूनतम 100 शेयरों की लाट के हिसाब से 14000 रुपए की धनराशि के साथ एप्लाइ कर सकते हैं। 155 करोड़ रुपए का यह आईपीओ 13मार्च को खुलेगा और 15 मार्च को बंद होगा। शेयरों को बीएसईऔर एनएसई में लिस्ट कराया जाएगा। लिस्टिंग 23 मार्च को कराने की योजना है।

सुदर्शन फार्मा इंडस्ट्रीज लिमिटेड जुलाई 2008, मुंबई में स्थापित यह कंपनी पेंट, फार्मास्युटिकल, फूड और एडहेसिव उद्योगों में इस्तेमाल होने वाले विभिन्न प्रकार के स्पेशियलिटी केमिकल्स, एपीआई और इंटरमीडिएट्स बनाती है और कांट्रेक्ट मैन्युफैक्चरिंग भी कराती है। लगभग पचास प्रकार ‌के फार्मुलेशन‌ घरेलू बाजार के साथ साथ निर्यात भी करती है जो टैबलेट, कैपसूल, इंजेक्टिबिल्स के रूप में होते हैं।

कंपनी के प्रमोटर्स ने 2019में आईपीओ के जरिए 25.80 करोड़ रुपए जुटाने का प्रयास किया था लेकिन किन्हीं कारणों से आईपीओ अंडर सब्सक्राइब हुआ था और निवेशकों को धन वापस करना पड़ा था। इस बार आईपीओ से 50.20 करोड़ रुपए जुटाने की योजना कहां तक सफल होती है यह तो आने वाला समय ही बताएगा। सुदर्शन फार्मा को वर्किंग कैपिटल की जरूरत है और इसी उद्देश्य से यह निवेशकों से धन जुटाने के लिए पूंजी बाजार में उतर रही है। इसका आईपीओ 9 मार्च को खुलेगा और 14 मार्च को बंद हो जाएगा।

शेयरों को बीएसई (एस एम ई) में 22मार्च को सूचीबद्ध कराया जाएगा। आईपीओ के अंतर्गत 10 रुपए मूल्य का शेयर 71-73रुपए के हिसाब से जारी करने की अनुमति सेबी से मिल चुकी है। निवेशक न्यूनतम 1600 शेयरों के लिए 116800 रुपए के साथ एप्लाइ कर सकेंगे। सुदर्शन फार्मा ने वित्तीय वर्ष 2020-21 में 194 करोड़ रुपए के कारोबार पर 2.67 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ अर्जित किया, और वर्ष 2021-22 में क्रमशः 357 करोड़ रुपए व 5.30 करोड़ रुपए रहा।

प्रणतेश बाजपेयी