अब यूपी में फूड प्रोडक्ट्स करेंगे लोगों की रोजी रोटी का प्रबंध

0
201

लखनऊ। भारतीय लजीज व्यंजनों के शौकीन होते हैं और एक बहुत बड़ी राशि वो हर महीने इस पर खर्च करते हैं। यही खान पान उत्तर प्रदेश में लोगों की रोजी रोटी का माध्यम बनने जा रहा है। ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी 4.0 के तहत उत्तर प्रदेश में फूड प्रॉसेसिंग सेक्टर में 60 हजार करोड़ रुपए से अधिक का निवेश धरातल पर उतारा गया है, जिसके तहत सिर्फ बड़े प्रोजेक्ट्स से ही प्रदेश में 3 हजार से अधिक रोजगार के अवसर मिलेंगे। ये नौकरियां बिजनौर, मुजफ्फरनगर, संडीला, बरेली और बागपत जैसे जिलों में सृजित होने जा रही है। यही नहीं, तमाम अन्य बड़ी कंपनियां भी प्रदेश के अलग-अलग जिलों में फूड प्रॉसेसिंग में निवेश कर रही हैं जो हजारों रोजगार के अवसर उपलब्ध कराएंगी।

बेवरेजेज मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स देंगी नौकरियां : कोका-कोला के लिए भारत का सबसे बड़ा बॉटलर एसएलएमजी यूपी में एक और शुगर सिरप, जूस मैन्युफैक्चरिंग, पल्प एक्सट्रैक्शन और बॉटलिंग यूनिट स्थापित कर रहा है। यह प्रोजेक्ट 509 करोड़ रुपए का है और बिजनौर में लगभग 275 नौकरियां सृजित करेगा। वहीं, बेवरेज मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री में काम करने वाले प्रसिद्ध रिलायंस ग्रुप का एक उपसमूह भारतीय बेवरेजेज प्रा. लि. 600 करोड़ रुपए का निवेश कर रहा है और मुजफ्फरनगर में इसके माध्यम से 500 नौकरियां उत्पन्न हो रही हैं। यह प्रोजेक्ट भारतीय बेवरेजेज प्रा. लि. और रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड के ज्वॉइंट वेंचर में मुजफ्फरनगर के पास पुरकाजी में बेवरेज मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी विकसित करने से संबंधित है।

स्नैक्स, डिस्टिलरी और रोटी प्रोडक्ट्स भी उपलब्ध कराएंगे रोजगार : इसी तरह, बालाजी वेफर्स उत्तर प्रदेश में 500 करोड़ रुपए का निवेश कर रहा है। इसके माध्यम से वह हरदोई के औद्योगिक क्षेत्र संडीला में आलू वेफर्स और भारतीय परंपरागत स्नैक्स के प्रोडक्शन के लिए एक इंटीग्रेटेड फूड प्रॉसेसिंग यूनिट की स्थापित कर रहा है, जिसके माध्यम से क्षेत्र में 1500 नौकरियां सृजित होंगी। वहीं, धामपुर बायो ऑर्गेनिक्स 350 करोड़ रुपए के निवेश के साथ, एक नया डिस्टिलरी प्रोजेक्ट स्थापित कर रहा है। इस प्लांट से बरेली में 100 नौकरियों का सृजन होगा। इसी तरह, ग्रुपो बिम्बो, कंज्यूमर्स को हाई क्वालिटी, सुविधाजनक रोटी प्रोडक्ट्स प्रदान करने के लिए अपनी सहायक कंपनी रेडी रोटी इंडिया प्रा. लि. के माध्यम से एक इंटीग्रेटेड मैन्युफैक्चरिंग यूनिट स्थापित कर रहा है। कंपनी बागपत में स्थित प्लांट के लिए 200 करोड़ रुपए का निवेश कर रही है, जिससे 600 से अधिक नौकरियां पैदा होंगी।

ये इंडस्ट्रीज भी हजारों अवसर उपलब्ध कराएंगी : इसके अतिरिक्त प्रदेश में कई अन्य समूह भी निवेश कर रहे हैं। इनमें धर्मपाल सत्यपाल लि., बीकानेरवाला फूड्स प्रा लि., हैप्पीलो इंटरनेशनल प्रा. लि., हल्दीराम स्नैक्स मैन्युफैक्चरिंग प्रा. लि., सस्टीन लि., फेयर एक्सपर्ट्स (इंडिया) प्रा. लि., फॉर्च्यून राइस लि., बृंदावन एग्रो इंडस्ट्रीज प्रा. लि., एसपीआरएल फूड्स लि., वीआरएस फूड्स लि. (पारस डेयरी), अमृत बोटियर्स प्रा. लि., एबीआईएस एक्सपोर्ट्स (इंडिया) प्रा. लि., जैक वेंचर प्रा. लि., शिवश्रित फूड्स प्रा. लि., वीकेसी नट्स प्रा. लि., बलरामपुर चीनी मिल्स लि., त्रिवेणी इंजीनियरिंग एंड इंडस्ट्रीज लि., डीसीएम श्रीराम लि., वेव शुगर मिल (बिजनौर), टिकौला शुगर मिल्स लि., एनजेडी सॉफ्टेक प्रा. लि., कामधेनु कैटल फीड्स प्रा. लि., अदानी एग्री लॉजिस्टिक, बलरामपुर चीनी मिल्स लि. और डीसीएम श्रीराम लि.शामिल हैं।