रामभक्तों का अपमान करने वाले देश से माफी मांगें

0
24

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस के काले कपड़े पहनकर प्रदर्शन पर तीखा वार करते हुए कहा कि आज 5 अगस्त हर भारतीय के लिए गर्व का दिन है क्योंकि आज के दिन ही श्रीराम जन्मभूमि का राम मंदिर निर्माण के लिए पूजन किया गया था। उन्होंने कहा कि यह सोचने वाली बात है कि कांग्रेस ने काले कपड़े पहनकर प्रदर्शन करने का दिन आज का ही क्याें चुना। यह सभी राम भक्त और राम मंदिर निर्माण के लिए आंदोलन में बलिदान देने वालाें का अपमान है। इसके साथ ही यह सुप्रीम कोर्ट का अपमान है और कांग्रेस को इसके लिए माफी मांगना चाहिये।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि आज अयोध्या दिवस है सैकड़ों वर्षों से हर भारतीय जन मानस को इस दिवस का इंतजार था। श्रीराम जन्म भूमि मंदिर निर्माण के कार्य के शुभारंभ दिन का भारत के लोकतंत्र को सम्मान देने वाला दिवस है। भारत की न्यायपालिका की ताकत को दुनिया के सामने अहसास कराने वाला दिवस है। यानी भारत के उच्चतम न्यायालय के सम्मान का दिवस है। सैकड़ाें वर्षों से हर भारतीय की तमन्ना थी हर आस्थावान भारतीय इस दिवस का इंतजार कर रहा था। और उन सबके मन में एक ही भाव था कि भारत की आस्था का सम्मान हो। माननीय उच्च्तम न्यायालय के फैसले से एक समान अनुमति मिली। पांच अगस्त 2020 को मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की जन्म भूमि पर मंदिर निर्माण कार्य का शुभारंभ हुआ। प्रात: काल से ही अयोध्या में लाखों की संख्या में श्रद्धालुजन आकर अपनी आस्था वहां व्यक्त कर रहे हैं। इस दिवस पर भारत की आस्था को अपमानित करने वाला कांग्रेस के नेताओं का आचरण अत्यन्त निंदनीय है।

यह अयोध्या दिवस का अपमान है : सीएम ने कहा कि कांग्रेस पार्टी कई दिनों से प्रदर्शन अपने सामान्य कपड़ों में कर रही थी। सहमति असहमित हो सकती है, लेकिन पांच अगस्त को श्रीराम जन्म भूमि मंदिर निर्माण कार्य के शुभारंभ दिवस के दिन, अयोध्या दिवस के दिन, माननीय उच्च्तम न्यायालय के सम्मान दिवस के दिन, राम भक्तों को अपमानित करने वाला कांग्रेस का यह आचरण एक बार फिर जगजाहिर हुआ है। आज कांग्रेसियों ने काले कपड़े पहन करके जो प्रदर्शन किया है। यह श्रीरामजन्म भूमि के मंदिर निर्माण की तिथि के दिन यह रामभक्तों का अपमान है। अयोध्या दिवस का अपमान है। भारत के लोकतंत्र का अपमान है। भारत की न्यायपालिका के सम्मान का अपमान है। कांग्रेस के इस कृत्य की हम निंदा करते हैं। और कांग्रेस पार्टी जिस तरह का आचरण कर रही है। मुझे लगता है कि कोई भी भारत का आस्थावान व्यक्ति कांग्रेस के इस आचरण का समर्थन नहीं कर सकता है। यह राम भक्तों का अपमान है। कांग्रेस पार्टी को अपने इस कृत्य के लिए देश की जनता से माफी मांगनी चाहिये।