यूपी में पर्यटन को बढ़ावा, धार्मिक स्‍थलों का जीर्णाद्धार

0
38

लखनऊ। योगी सरकार ने अपने पांच सालों के कार्यकाल में जो कहा वो किया है। ‘सबका साथ सबका विकास’ के नारे को चरितार्थ करते हुए जन-जन तक सरकार ने बीते पांच सालों में स्‍वर्णिम योजनाओं का लाभ सीधे लोगों तक पहुंचाया है। ये बातें उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ मंत्री और सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बीएसपी राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती पर करारा प्रहार करते हुए कहीं।

उन्‍होंने कहा कि जो पार्टी आज चुनाव को धार्मिक रंग देने की बात कह रही है। उसने अपने कार्यकाल में विकास के नाम पर केवल पत्‍थरों की बड़ी बड़ी मूर्तियों पर काम कराया। हमारी सरकार ने राष्‍ट्रवाद, सुशासन और विकास पर जोर दिया है। उन्‍होंने कहा कि बीएसपी बयानबाजी में अव्‍वल है पर धरातल पर ध्‍वस्‍त साबित हुई।

उन्‍होंने कहा कि आस्‍था, अध्‍यात्‍म और पौराणिक प्राचीन मंदिरों की धरती उत्‍तर प्रदेश की संस्‍कृति और विरासत को सहेजने का कार्य मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने किया है। पांच सालों में योगी सरकार ने धर्म अध्‍यात्‍म की धरती कहे जाने वाले यूपी के धार्मिक स्‍थलों का जीर्णाद्धार कराया जिससे यूपी में पर्यटन को बढ़ावा मिला है। बनारस के घाट हो या भव्‍य कुंभ की छटा… गोरखपुर में गोरखनाथ मंदिर…पावन भूमि अयोध्‍या में विराजमान रामलला… योगी सरकार ने विश्‍वस्‍तर पर यूपी को धार्मिक स्‍थलों का विकास किया। जिससे पर्यटन के लिहाज से लोगों की पहली पसंद यूपी बन रहा है। ऐसे में अगर कोई इसको धार्मिक चश्‍में से देखता है तो ये शर्मनाक है।

कथनी-करनी में अंतर वालों को जनता ने जगाया : प्रदेश की जनता ने यूपी के सियासी मैदान में उन सभी लोगों को बाहर किया। जिन्‍होंने अपने कार्यकाल में काम के नाम पर सिर्फ हल्‍ला किया। कथनी करनी में अंतर दिखने पर जनता ने सियासी रण से बाहर निकालकर भाजपा पर अपना विश्‍वास दिखाया इस बार भी 24 करोड़ जनता का विश्‍वास हमारी पार्टी के साथ है।