इंडिवुड फिल्म इंडस्ट्री का जोड़ नहीं, कमाई 17 हजार करोड़

0
808

इंडिवुड फिल्म इंडस्ट्री का जोड़ नहीं,17 हजार करोड़ कमाती है…….. दुनिया में सबसे ज्यादा लोगों का मनोरंजन करने का श्रेय भारतीय फिल्म उद्योग – ‘इंडिवुड’ को जाता है। दर्शकों की संख्या के मामले हालीवुड इंडिवुड से बहुत पीछे है। लेकिन समग्र कमाई करने में हालीवुड टाॅप पर है। जब फिल्मों के निर्माण की बात आती है तो भी हालीवुड बहुत पीछे रह जाता है। इंडिवुड में प्रतिवर्ष औसतन 1500-2000 फिल्मों का निर्माण किया जाता है, जबकि हालीवुड का प्रोडक्शन 500-550फिल्मों के बीच सिमट जाता है।

भारतीय फिल्म उद्योग यानी इंडिवुड फिल्मों की संख्या और इनके दर्शक विश्व में सर्वाधिक हैं। इंडिवुड कई क्षेत्रीय फिल्म उद्योगों में बंटा हुआ है। हिंदी फिल्मों का बाॅलीवुड – मुंबई में देश में सबसे अधिक फिल्में बनती हैं – प्रतिवर्ष औसतन एक हजार। तमिल सिनेमा – टाॅलीवुड चेन्नई में, बंगाली सिनेमा कोलकाता में, भोजपुरी पटना में केंद्रित है। इनके अलावा हैदराबाद भुवनेश्वर- कटक, बंगलुरु, गुवाहाटी क्षेत्रीय भाषाओं की फिल्मों के निर्माण केंद्र हैं।

देश के प्रमुख उद्योग संगठन कनफेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्रीज (सीआईआई) के आंकड़ों के विश्लेषण से पता चलता है कि इंडिवुड की समग्र आय 2022 में 17200 करोड़ रुपए रही। इसमें 7830 करोड़ रुपए का योगदान दक्षिण भारतीय फिल्मों ने किया। इसकी तुलना में हिंदी फिल्मों का योगदान कम ही रहा। बाॅलीवुड फिल्मों के दर्शक दुनिया में सबसे अधिक हैं। आय के मामले में निर्विवाद रूप से हालीवुड शीर्ष पर जरूर है लेकिन 300 करोड़ दर्शकों का मनोरंजन करने का श्रेय बाॅलीवुड को है। हालीवुड में अमूमन 500-550 फिल्मों का निर्माण किया जाता है और इनके दर्शक भी कुल मिलाकर 260 करोड़ से ऊपर नहीं हैं। भारतीय सिनेमा – इंडिवुड बीस भाषाओं में सालाना औसतन 1500-2000 फिल्मों का निर्माण करता है।

प्रणतेश बाजपेयी