जानिए नागपंचमी को क्या करें और क्या न करें

0
74

इस बार नाग पंचमी का त्योहार 02 अगस्त मनाया जाएगा। इस दिन मंगलवार पड़ रहा है। इस दिन नागों की पूजा करने और व्रत रखने से पुण्य के प्राप्ति होती है। इस दिन आप क्या काम करें और क्या न करें आइए जानें।

हिंदू धर्म में नाग पंचमी के त्योहार का विशेष महत्व है। ये त्योहार हर साल हिंदू कैलेंडर के पांचवें महीने श्रावण के चंद्र महीने के शुक्ल पक्ष के पांचवें दिन मनाया जाता है। इस साल नाग पंचमी का त्योहार 2 अगस्त मंगलवार को मनाया जाएगा। ये त्योहार आमतौर से तीज के दो दिन बाद पड़ता है। इस दिन नाग देवता की पूजा की जाती है। ऐसा माना जाता है कि नाग देवता की पूजा करने से घर में सुख-शांति बनी रहती है। इस दिन बहुत से लोग व्रत भी रखते हैं। इस दिन जरूरतमंद लोगों को दान करना बहुत ही शुभ माना जाता है। इस दिन घर में मिट्टी से सर्प की मूर्ती भी बनाते हैं। नाग देवता को फूल, मिठाई और दूध अर्पित किया जाता है। कई जगहों पर इस दिन मेले भी लगते हैं।

नाग पंचमी शुभ मुहूर्त
इस बार नाग पंचमी मंगलवार 2 अगस्त 2022 को है। नाग पंचमी तिथि की शुरुआत 02 अगस्त 2022 सुबह 05 बजकर 13 मिनट से होगी। नाग पंचमी तिथि का समापन 03 अगस्त 2022 को सुबह 05 बजकर 41 मिनट पर होगा।पूजा का शुभ मुहूर्त सुबह 06 बजकर 05 मिनट से लेकर 08 बजकर 41 मिनट तक है। नागपंचमी के दिन क्या काम करें। नाग पंचमी के दिन व्रत रखें। ऐसा माना जाता है इस दिन व्रत रखने से कभी सांप नहीं काटता है। नाग देवताओं को दूध, मिठाई और फूल चढ़ाएं। नाग पंचमी मंत्र का जाप करें। जिनकी कुंडली में राहु-केतु भारी हैं उन्हें इस दिन व्रत रखना चाहिए।

इस दिन क्या न करें
नाग पंचमी के दिन मिट्टी की जुताई न करें। इससे सांपों को चोट लगने का खतरा रहता है। इस दिन पेड़ न काटें। इनमें छिपे हुए सापों को चोट लग सकती है। नागपंचमी के दिन लोहे के बर्तन में खाना न पकाएं और न ही लोहे के बर्तन में खाना खाएं।

इस दिन का महत्व
ऐसा माना जाता है कि सांपों के लिए की गई कोई भी पूजा नाग देवताओं तक पहुंचती है। इसलिए लोग नाग देवताओं के रूप में उस दिन जीवित सांपों की पूजा करते हैं। हिंदू धर्म में सांपों को नाग देवता के रूप में पूजा जाता है।