परंपराओं और आस्था को वैश्विक पहचान

0
58

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पिछले साढ़े चार सालों में प्रदेश में परंपराओं और आस्था को नई पहचान दी है। प्रदेश में धार्मिक आस्था को लेकर कई ऐसे कार्यक्रम और आयोजन किए गए हैं, जिन्होंने प्रदेश को वैश्विक स्तर पर नई पहचान दिलाने का काम किया है। इसी क्रम में प्रदेश में पहली बार अयोध्या में दीपोत्सव, मथुरा में रंगोत्सव और कृष्णोत्सव, वाराणसी में शिवरात्रि और देव दीपावली का भव्य आयोजन, कांवड़ यात्रा और प्रयागराज में कुंभ के दौरान हेलीकाफ्टर से फूलों की वर्षा भी हुई है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 2017 में पहली बार अयोध्या में 50 हजार दीयों से दीपोत्सव का आयोजन शुरू कराया था। धीरे-धीरे अब यह बढ़ते हुए 12 लाख दीयों तक पहुंच गया है। अब 12 लाख दीयों का प्रज्ज्वलन कराकर विश्व रिकॉर्ड बनाया जा रहा है। इससे पहले अयोध्या में वर्ष 2020 में तीन दिवसीय दीपोत्सव के अवसर पर राम की पैड़ी पर 6,06,569 दीप जलाकर नया गिनीज बुक वर्ल्ड रिकार्ड बनाया गया था।

अयोध्या में पर्यटन विकास और सौंदर्यीकरण के लिए क्वीन हो मेमोरियल पार्क, दशरथ समाधि स्थल, फसाड लाइट इम्प्रूवमेन्ट, यात्री निवास, हनुमानगढ़ी, कनक भवन, जानकी मंदिर, परमहंस रामचन्द्र दास समाधि स्थल, रामायण सर्किट आदि के उच्चीकरण और सौन्दर्यीकरण के लिए 15832.76 लाख रुपए की लागत से कार्य कराए जा रहे हैं।

राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हो रहा प्रचार प्रसार : धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अयोध्या, वाराणसी, बुन्देलखण्ड सर्किट, चित्रकूट, गोरखपुर पश्चिमी उत्तर प्रदेश पर आधारित बुद्धिस्ट सर्किट, चलो अयोध्या एवं लैण्ड ऑफ रामा का राष्ट्रीय स्तर और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रचार प्रसार किया जा रहा है। इसके अलावा स्वदेश दर्शन योजना के तहत रामायण सर्किट, बौद्ध सर्किट, हेरिटेज सर्किट और स्प्रिचुएल सर्किट, बुंदेलखण्ड सर्किट, शक्तिपीठ सर्किट, महाभारत सर्किट, आध्यात्मिक सर्किट, सूफी सर्किट एवं जैन सर्किट का चिह्नांकन कर समेकित पर्यटन विकास का कार्य किया जा रहा है।

अब हो रहा अयोध्या दीपोत्सव : प्रदेश में होने वाले महोत्सव और दीपोत्सव काफी चर्चा में हैं। सपा सरकार में सैफई महोत्सव का आयोजन किया जाता था। महोत्सव के लिए मुंबई चार्टर प्लेन भेजकर बालीवुड कलाकारों को बुलाया जाता था। जबकि भाजपा सरकार में 14 वर्षों के वनवास के बाद प्रभु श्री राम के अयोध्या लौटने पर दीपोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। आज अयोध्या अपने भव्य और दिव्य स्वरूप में गर्व करा रही है। इतना ही नहीं, विश्व कीर्तिमान भी बनाने जा रही है। इसके अलावा योगी सरकार में मुख्यमंत्री आवास पर अब नवरात्र में फलाहार पार्टी और शबद कीर्तन सहित अन्य कार्यक्रम होते हैं। जबकि पहले सपा सरकार में मुख्यमंत्री आवास पर इफ्तार पार्टी का आयोजन होता था।